About

(For English go inside)

प्रिय साथियों

सहकार रेडियो आवाज़ आधारित एक मीडिया प्लेटफार्म है और वैकल्पिक मीडिया के क्षेत्र में चल रहे तमाम प्रयासों के क्रम में ही एक और कोशिश है। हमारा मानना है कि जब एक तरफ आर्थिक-राजनीतिक ताकतों का गठजोड़ आम जनता को लूट रहा हो और इन लुटेरों के पक्ष में फेक न्यूज़, पेड न्यूज़ एवं तमाम तरह के भ्रामक प्रचारों की आंधी चल रही हो, तो उसके जवाब में सच्चाई परोसने वाली और इन तमाम भटकावों के बीच आम जनता को रौशनी दिखाने वाली ताकतों की मजबूत उपस्थिति अनिवार्य है। अतः कविता-कहानियों-संस्मरणों,  गीत-संगीत, सूचनाओं-समाचारों, लेख-चर्चा-बहस तथा अन्य तमाम रचनात्मक तरीकों से प्रगतिशील विचारों को पनपने और फलने-फूलने की ज़मीन तैयार करनी होगी| समाज के तमाम अँधेरे कोनों तक सत्य का प्रकाश पहुँचाने के लिए हम सभी को इस महत्वपूर्ण काम में लगना ही होगा।


वैकल्पिक मीडिया के तमाम प्रयोगों-प्रयासों के बीच कुछ हटकर करने, सबसे अलग या एक नया स्पेस तलाश कर अलग पहचान बनाने की चाह निःसंदेह हममें भी है, लेकिन ये हमारा मुख्य उद्देश्य नहीं। बल्कि हमारी तमन्ना है कि समाज की बेहतरी के इस काम में लगे तमाम लोग व संस्थाएं अपने वैचारिक शुचिता के टापुओं से उतरकर जनता की राजनीतिक-सांस्कृतिक चेतना को विकसित करने के लिए एक साझा मंच बनाएं।

खैर, जहां तक बात ‘सहकार रेडियो’ की है तो हमें लगता है कि ‘आवाज़’ के माध्यम की अपनी एक अलग ताक़त है। खासकर वर्तमान में, जब इन्टरनेट की दरें लगातार सस्ती हो रही हैं और स्मार्ट फोन यूजर्स की संख्या लगातार बढ़ रही है| ऐसे में व्हात्सप्प जैसे अप्लिकेशन्स का इस्तेमाल करके आवाज़ के मीडिया का एक बड़ा नेटवर्क खड़ा किया जा सकता है| जिन लोगों की पहुँच अभी भी इंटरनेट और स्मार्ट फोन तक नहीं बन पायी है, उनके लिए ब्लूटूथ और अन्य माध्यमों से ऑडियो फाइल शेयरिंग का विकल्प भी है|

ऐसे में इस बात की गंभीरता को तमाम जनपक्षधर शक्तियों को समझना होगा। जब देश की बहुसंख्यक आबादी निरक्षर हो और इंटरनेट पर तमाम प्रगतिशील सामग्री मुख्य रूप से लिखित और विडियो फॉर्म में ही उपलब्ध हो, तो सच्चाई के स्वरों का हाशिए की जनता तक पहुच पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। यही नहीं, लोगों में जिस तेज़ी से पढ़ने-लिखने की आदत ख़त्म हो रही है और जीवन में असुरक्षा व भय जनित भागमभाग लगातार तेज़ होती जा रही है, ऐसे में तमाम संसाधनों से लैस आबादी भी पत्र-पत्रिकाओं और टेलीविजन-इंटरनेट पर चल रही तमाम प्रगतिशील वैचारिक-राजनीतिक-सामाजिक बहसों तक मुश्किल से ही पहुँच पाती है। ‘आवाज़’ का मीडिया काफी हद तक इस अंतराल को भरने की भी सामर्थ्य रखता है क्योंकि तमाम व्यस्तताओं के बीच कोई भी व्यक्ति सुन तो सकता ही है|

जाहिर सी बात है, यह प्रयास किसी एक व्यक्ति या कुछ उत्साही लोगों के लग जाने भर से अपनी मंज़िल तक नहीं पहुच सकता। “सहकार रेडियो ” की कार्यशैली और इसके सम्पूर्ण ढांचे को हमें इसके नाम के अनुसार ही विकसित करना है। यानी, लोग मिलकर अपने लिए स्वयं का एक मीडिया प्लेटफार्म बनाएं। मतलब, आप ही इसके श्रोता हैं और आप ही इसके संचालक-कार्यकर्ता। इसलिए इसके सञ्चालन में आपकी भागीदारी, आपकी आवाज़ और आपके आर्थिक सहयोग की यहां सख्त ज़रुरत है।

उम्मीद है, हम सभी मिलकर मीडिया का यह सहकारी ढांचा जल्द ही विकसित कर पाएंगे।

हमसे संपर्क करने के लिए यहाँ क्लिक करें| आर्थिक सहयोग करने के लिए  यहाँ क्लिक करें |

————————————————————————

Dear Friends,

 SAHKAR Radio is a voice based platform and a new initiative of alternative media.

We conceptualize this platform to face the naive nexus of economic and political forces which seems united for their agenda to rob common man. We are experiencing a storm of fake news, paid news and other mischievous agenda across all media forums.

So, In reply of all this propaganda we must need a strong presence of truth serving and enlightening media force which works for common man.

Hence, we need to make a fertile land of ideas through an alternative media forum. Idea of this forum is to present progressive debates and creative ideas in the form of poetry-story-memoirs-talk shows, songs and music, information and news.

We must throw our all efforts to build a media of people which can take the torch of truth to the darker corners of our society. Through this journey, we also wish to make our exclusive face and identity but this is not our Goal. Our aim is to draw the attention of other change makers and social institutions through our efforts and aspire them to make a pro people cultural-political front.

Now, let us clarify the idea of SAHKAR Radio. We realize that medium of AWAZ (Voice) will occupy an unique space within Digital India. Data and Smart phones are emerging as greatest cheerleaders of Social Change. We look this scenario as an opportunity to build a bigger media network on Whatsapp. We use Bluetooth and other mediums of audio file sharing to reach those who don’t have any access to internet and smart phones. Technology is open for all and trust me, we can really make a change if you support us and dare to own us.

This is our appeal to all individuals and pro people forces of our country that we should realize the potential of technology for Social Change. Yes, we are also aware of the fact that majority of Indians are still illiterate though Internet mostly serve those who can read text and already acquired a certain level of techno -friendly attitude. Therefore, it seems really hard to make them consume progressive content which is available on Internet.

Specially, now-a-days when we are witnessing a rapid fall of reading and writing habits of common man. People who also have some resources of other types of media consumption, are also in tight grip of insecurity and negativity because of their lack of access to creative ideas and progressive debates.

SAHKAR Radio can play a big role to fill this ‘Gap of Access’ because voice based media forums are still unexplored in our country.

Apparently, this idea is Big enough to do a bunch of courageous people. So, we need you Here to make it Bigger.  We welcome everyone who dare to share our vision of change.

SAHKAR Radio is an emerging alternative media platform which is in process of evolving its structure and open to improvise its work culture according to the need of its users and explorers. Yes, you heard it right, SAHKAR offers to join everyone as audience, content writers, presenters, idea explorers and fund raisers. We are all yours if you want to Do something to change the present chaotic media scenario which prevails us everywhere.

We look forward to have you with us with all your potential i.e. from money to ideas and skills. SAHKAR needs resources of all kind badly. Least of your help can keep us survive and cherish.

SAHKAR is ready to have you if you are ready to have it.

Ask yourself and Come soon!

We are waiting!!

Thanks & Regards

SAHKAR (Radio) Team

For contact with us please click here. For Contribution please click hear.

————————————————————————-

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

Create a free website or blog at WordPress.com.

Up ↑